Friday, January 5, 2018

कैसे निभाए new year resolution, नये साल का संकल्प कैसे निभाए






न्यू इयर resolution कैसे निभाए


           अक्सर हम कोई resolution सुरु तो कर देते हैं लेकिन ज्यादा दिनों तक उसे निभा नहीं पाते और कुछ दिन बाद ही उसे छोड़ देते हैं,  इसका सबसे प्रमुख कारण है खुद को demotivate करना, जी हाँ हम जाने अनजाने खुद को demotivate कर देते हैं, example के लिए यदि मैंने सोचा मैं आज से 2 घंटे पढ़ाई करूंगा, पहले दिन तो 2 घंटे मैंने पढाई कर दी लेकिन 5 दिन बाद आधा घंटा ही पढा, और यहीं पर हम खुद को demotivate करने लगते हैं, अब मैं सोचूंगा की मैंने तो 2 घंटे पढने का संकल्प लिया था लेकिन मैं तो 2 घंटे पढ़ ही नहीं रहा हूँ हम उस आधे घंटे की तुलना उस 2 घंटे से करते हैं और खुद को उससे कम तर पाते हैं जबकि हमे याद रखना चाहिए की पहले तो मैं १0 मिनट भी नहीं पढ़ता था लेकिन अब पूरा 30 मिनट पढ़ रहा हूँ ये बहुत बड़ी उपलब्धि है, जब पहले की अपेक्षा हम 30 मिनट पढ़ रहें हैं तो धीरे-धीर ज्यादा समय तक भी पढ़ सकते हैं, इस उपलब्धि के लिए खुद को खूब motivate करें.


आइये जानते हैं कैसे निभाए new year resolution

1. खुद को motivate करें  --   कोई भी संकल्प हम अपनी जिन्दगी में सकारात्मक बदलाव के                                                                          लिए लेते हैं, जब भी आप कोई संकल्प निभाने लगते हैं जो सुरु में काफी जोश के साथ उसे सुरु करते हैं लेकिन धीरे धीरे उत्साह में कमी आने लगती हैं और हम खुद के लिए नकारात्मक बाते बोलने लगते हैं की मैंने तो ये पहले भी यह सुरु किया था, तब भी मैं पूरा नही कर पाया था, मुझसे ये नहीं होगा बगैरह वगैरह.


           आपने सुरु किया इसे एक नई सुरुवात समझे, याद करें की यह नया साल है अत: इसमे कुछ नया ही होगा, खुद के लिए सकारात्मक हों छोटे से बदलाव जो आप  अपने अन्दर लाये उसके लिए खुद को motivate करे. सोचे जब मैं छोटा बदलाव ला सकता हूँ तो बड़ा भी ला सकता हूँ. दृढ सकंल्प हों की  मैं इसे कर सकता हूँ और मैं इसे कर के रहूँगा.


2. छोटे से स्टार्ट करें--   अक्सर लोग बहुत बड़ी गलती करते हैं वो बड़े बड़े वादे करते हैं जैसे की मैं                                                        एक  दिन में 10 घंटे पढूंगा, जबकि अभी वे 10 मिनट भी नहीं पढ़ते, या मैं पूरे २ घंटे exercise करूंगा,  या पहले वे २०-२० सिगरते पिते थे तो कहेंगे की अब मैं एक भी नहीं पियूँगा etc.


          इन वादों को कुछ दिन निभाना तो ठीक हैं लेकिन ज्यादा दिन तक नहीं. हमेशा छोटे से सुरु करें, जैसे सुरु में आधा घंटे पढाई से, 10 मिनट exercise से सुरु करें,फिर धीरे-धीरे उसका समय बढ़ाए, यही आप पहले 10 सिगरेट पीते हैं तो resolution बना सकते हैं की मैं पहले महीने जनवरी में 8 सिगरेट फिर अगले महीने 7 धीरे धीरे करके कम करते हुए 6,फिर 5 इस प्रकार धीरे धीरे करके १-२ सिगरेट पे आ जाऊँगा और उसके कुछ बाद सिगरेट पीना छोड़ दूंगा इसी प्रकार अन्य लतों जैसे शराब, फेसबुक, व्हाटसअप आदि को भी कम किया जा सकता हैं, या फिर छोड़ा जा सकता है.

        मैंने कई लोगों को देखा जो एक दिन में 10 कप तक चाय पी जाते हैं लेकिन जब उनसे 1 महीने बाद दोबारा मिलो तो वे कहते हैं मैंने चाय छोड़ दी, लेकिन फिर 2 महीने बाद तो वे पहले से भी ज्यादा चाय पीते हुए मिलते हैं.

  कोई भी आदत कई महीनो या सालों से बनी होती हैं अत: उसे बदलने में समय लगेगा, धीरे धीरे करके अपनी गलत आदतों को बदलकर अच्छी आदतों को बनाया जा सकता हैं.


3. रात को सोने से पहले दुसरे दिन के लिए सकारात्मक हों --    हमारा दूसरा दिन                                                                                                                                          कैसा होगा वह काफी हद तक पिछली रात को सोते समय हमारे विचारों पर भी निर्भर करता हैं अक्सर जब हम यह सोचकर सोते हैं की कल मुझे किसी भी हाल में जल्दी उठाना हैं और खुद को कोई दूसरा विकल्प नहीं देते तो हम दुसरे दिन जल्दी ही उठते हैं लेकिन जब हम सोचते हैं की अगर मैं जल्दी उठ भी गया तो ठीक है नहीं भी उठा तो कोई बात नहीं 1-2 दिन बाद से जल्दी उठ जाऊँगा तो फिर हम यकीनन जल्दी नहीं उठ पाते.


          इसी प्रकार दुसरे दिन का हर काम हमारे आज सोने से पहले की सोच से प्रभावित होता है की कल exercise करेंगे के नहीं, सुबह पढाई करेंगे की नहीं, अपने काम को मन लगाकर करेंगे की नहीं आदि....अत: रात को सोने से पहले अपने दुसरे दिन के कामों के लिए सकारात्मक और दृढ संकल्प हों. अपने दिमाग में confusion न रखें की मैं ये कर पाऊंगा की नहीं दृढ संकल्प हों की मुझे करना है तो करना है.



4. पिछले जो काम आपने पूरे किये उनसे प्रेरणा लें और खुद को inspire करें-- आपने कई ऐसे काम किये होंगे जो आपको करते समय डर लगा होगा की मैं कर पाऊंगा की नही      लेकिन आपने उसे न सिर्फ पूरा किया होगा बल्कि काफी अच्छा भी किया होगा , जरूरी नहीं बहुत बड़े काम ही कोई पूरा करे लेकिन छोटे- छोटे काम जो पूरे किये जाते हैं हमे प्रेरणा देते हैं, जैसे किसी को कभी यकीन न हो की वह कभी मंच पर जाकर कुछ कह पायेगा लेकिन जब उसे वह मौका मिला तो उसने काफी अच्छा बोला या किसी को लगता था की वह किसी गेम्स में भाग ले पायेगा, और उसने उसमे अच्छा प्रदर्शन किया, या कोई पढाई में अच्छा किया आदि, इस प्रकार के छोटी बड़ी उपलब्धियों को हम अपना प्रेरणास्रोत बना सकते हैं की जब हम वो कर सकते हैं तो ये भी कर सकते हैं.


5. अपने resolution को कहीं लिख दें और हर दिन कम से कम 21 दिनों तक उसे जरूर पढ़ें और करें   --   कहते हैं की किसी काम को यदि लगातार 21 दिनों तक                                                                               दोहराया जाय तो वह आदत बन जाती हैं और फिर आपको उसे जानबूझ कर  करने की जरूरत नहीं पडती बल्कि वह उसके बाद अपने आप होने लगती है, अत: अपने resolution को कहीं लिख ले और लगातार उसे 21 दिनों तक पढ़ें और अपने जीवन में उतारें, फिर २२वे दिन से वह काम आपकी दिनचर्या का हिस्सा बन जायेगा और आपका दिमाग खुद ब खुद उसे करने के लिए उत्साहित होगा. मैंने खुद सुबह जल्दी उठने और एक्सरसाइज करने की आदत इसी प्रकार बनाइ.



6. बीच में छुटने पर दोबारा सुरु करें  ---  कई बार हम अपने संकल्पों को निभा रहे होते हैं                                                                                              लेकिन किसी अन्य काम के कारn हमारे  संकल्प बीच में छूट जाते हैं तो इसे यहीं खत्म न समझे जब भी आप उस काम से बाहर निकले तो तुरंत उस संकल्प या resolution को फिर से सुरु कर दें.



7. बहुत ज्यादा resolution एक साथ न ले---      एक बार में 2-3 resolution ही ले, ज्यादा                                                                                                          resolution अधिक बोझ लगेंगे और आप अधिक दिन तक उन्हें निभा नही पाएंगे, अत: एक बार में कम संकल्प लेकर उन्हें निभाए जब वो आपकी आदत बन जाये और आपके लिए सामान्य बात हो जाये तो आप फिर नये resolution लेकर उन्हेंअपनी आदत बना सकते हैं जरूरी नहीं उसके लिए आपको नये साल का इंतजार करना पड़े, आप नये महीने, अपने जन्मदिन, किसी राष्ट्रीय दिवस या फिर हर नये दिन में नया संकल्प लेकर उसे अपनी आदत में सुमार कर सकते हैं



            आपको यह पोस्ट कैसी लगी अपने विचार जरूर बतायें, आप कोई प्रश्न पूछ सकते हैं या अपने सुझाव रख सकते हैं.


      ये भी पढ़ें -----

1. new year resolution in हिंदी, नए साल 2018 के लिए संकल्प


No comments:

Post a Comment